बुधवार, 24 सितंबर 2008

मारू बिहाग -झूला -शुभामुदगल

राग मारू बिहाग के संक्षिप्त परिचय के साथ आज सरगम पर प्रस्तुत हैं शुभा मुद्गल ( मुदगल) के स्वर मे सावनी झूला । झूला ,कजरी आदि विधायें हिन्दुस्तानी संगीत मे उपशास्त्रीय अंग के रूप मे जाने जाते हैं । कजरी के मूलतः तीन रूप हैं- बनारसी, मिर्जापुरी और गोरखपुरी । पं छन्नूलाल मिश्र,शोभा गुर्टू,गिरिजा देवी जैसे दिग्गज ,इस क्षेत्र के जाने माने हस्ताक्षर हैं । कजरी के बोलो मे जहाँ एक ओर नायिका के विरह का वर्णन होता है ,झूला मे वहीं अधिकतर राधा कृष्ण के रास व श्रंगार से संबन्धित बोलों का समावेश होता है ।
राग मारू बिहाग का संक्षिप्त परिचय-

थाट-कल्याण

गायन समय-रात्रि का द्वितीय प्रहर

जाति-ओडव-सम्पूर्ण (आरोह मे रे,ध स्वर वर्जित हैं)

विद्वानों को इस राग के वादी तथा संवादी स्वरों मे मतभेद है-

कुछ विद्वान मारू बिहाग मे वादी स्वर-गंधार व संवादी निषाद को मानते है इसके विपरीत अन्य संगीतज्ञ इसमे वादी स्वर पंचम व संवादी स्वर षडज को उचित ठहराते हैं ।

प्रस्तुत राग मे दोनो प्रकार के मध्यम स्वरों ( शुद्ध म व तीव्र म ) का प्रयोग होता है । शेष सभी स्वर शुद्ध प्रयुक्त होते हैं ।

मारू बिहाग आधुनिक रागों की श्रेणी मे आता है। इसके रचयिता उ0 स्वर्गीय अल्लादिया खां साहब माने जाते हैं

इस राग के समप्रकृति राग -बिहाग,कल्याण व मार्ग बिहाग हैं ।

मारू बिहाग का आरोह,अवरोह पकड़-

आरोह-नि(मन्द्र) सा म ग,म(तीव्र)प,नि,सां ।

अवरोह-सां,नि ध प,म(तीव्र)ग,म(तीव्र)ग रे,सा ।

पकड़-प,म(तीव्र)ग,म(तीव्र)ग रे,सा,नि(मन्द्र)सा म ग,म(तीव्र)प,ग,म(तीव्र)ग,रे सा ।


22 टिप्‍पणियां:

manvinder bhimber ने कहा…

bahut madhur...anand aa gaya

Arvind Mishra ने कहा…

बहुत बहुत आनंददायक !

Vivek Gupta ने कहा…

सुंदर |

शायदा ने कहा…

बहुत सुंदर। बढि़या।

padma rai ने कहा…

बहुत मधुर ! इस पोस्ट का जवाब नहीं !
पद्मा राय

अफ़लातून ने कहा…

बहुत बहुत धन्यवाद,पारुलजी ।

फ़िरदौस ख़ान ने कहा…

बेहतरीन तहरीर है...

पंकज शुक्ल ने कहा…

सरगम का दीवाना तब से हूं, जब बचपन में विविध भारती पर संगीत सरिता सुना करता था। संगीत सीखने की ललक पहले गांव की पढ़ाई लिखाई और बाद में रोजी रोटी की उलझन में पूरी नहीं हो पाई। पर हां, अच्छे संगीत की समझ ईश्वर ने दी है। आपसे संपर्क शायद ईश्वर का ही कोई इशारा होगा। मुझे जल्दी ही आपकी मदद की ज़रूरत पड़ सकती है।

कहा सुना माफ़,
-पंकज शुक्ल

Zakir Ali 'Rajneesh' ने कहा…

हिन्दी में संगीत केन्द्रित तो बहुत सारे ब्लॉग हैं, पर उनमें से शास्त्रीय संगीत का झंडा आपके ही नाम है। राग आधारित गीतों की जानकारी देने का शुक्रिया।

Mrs. Asha Joglekar ने कहा…

बहुत सुंदर ,आनंद आ गया पारुलजी ।

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

आपके ब्लॉग पर आज आने का शौभाग्य मिला ! संगीत से मेरा इतना ही नाता है की प. जसराज जी, प. भीमसेन जी ,
नजाकत अली-सलामत अली, बड़े गुलाम अली खान साहब, और सभी इस पीढी के गुरुजनों को सुनता रहा हूँ ! और आज भी इनको ही समय निकाल कर सुनता हूँ ! संगीत सुनकर स्वर्गिक आनंद मिलता है पर इसकी तकनीकी जानकारी नगण्य ही है ! आज मालुम हुवा की इतनी उत्कृष्ट जानकारी आपके ब्लॉग पर उपलब्ध है ! बहुत धन्यवाद !

DHAROHAR ने कहा…

Anutha hai blog aapka. Apne rajya aur visheshkar Bokaro se jude is blog se lagav to swabhavik bhi hai.

मनुज मेहता ने कहा…

bahut hi shaandaar
sunney mein jitna aanand aaya ussey kahin zayada iske peeche ke raag ko janne mein aaya, i was not aware about the raaga "Yaman", thanks for sharing the instrumental player and the artists who staged with shubha ji.
thanks once again for sharing such a nice raga.

koi fark nahi albatta... ने कहा…

बहुत ही ज्ञानवर्द्धक!

आरी को काटने के लिए सूत की तलवार???
पोस्ट सबमिट की है। कृपया गौर फरमाइएगा... -महेश

Prakash singh "Arsh" ने कहा…

main pahali bar aaya hun aapke blog me jo avismaraniya hai mere liye chuki main music se taaluk rakhta hun mere liye to ye........... main kuch kah nahi pa raha bas yehi ke uttam hai bahot khub.......

aapka swagat hai mere blog me
prosingh.blogspot.com

regards
arsh

bhoothnath ने कहा…

.....sargam ke maayne to vahi bata sakta hai jiski ismem roochi ho...sacchi bahut-bahut-bahut accha laga !!

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

परिवार व इष्ट मित्रो सहित आपको दीपावली की बधाई एवं हार्दिक शुभकामनाएं !
पिछले समय जाने अनजाने आपको कोई कष्ट पहुंचाया हो तो उसके लिए क्षमा प्रार्थी हूँ !

योगेन्द्र मौदगिल ने कहा…

वाहवा क्या बात है
achhi prastuti
बधाई स्वीकारें

Meenu khare ने कहा…

is post se player hata liya kya? pl. laga dein jhoola sunne ka man bahot hai.

Parul ने कहा…

meenu

duusra player lagaya hai...sun kar dekhiye...

Meenu khare ने कहा…

धन्यवाद पारूल. बहुत अच्छा झूला झूले हम तुम्हारे ब्लॉग पर...

Apoorv ने कहा…

काफ़ी वक्त से खोज रहा था ऐसा ही कुछ..शुक्र है आपके ब्लॉग पर आया..उम्मीद है आगे भी काफ़ी जानकारी मिलती रहेगी..नियमित.